2line shayari : चलो माना की हमे प्यार का

अज़ान-ए-हुस्न देती है तेरे रुखसार की मज़्जिद,
अगर हो इजाज़त तो होंठों से एक सजदा प्यार का कर लूँ!!

चलो माना की हमे प्यार का इज़हार करना नहीं आता,
जज़्बात ना समझ सको इतने नादान तो तुम भी नहीं!!

लगती हैं जिनके दिल पर, वो आँखो से नही रोते,
जो अपनो के ही ना हो पाए, वो किसी के नही होते!!

रहेगा किस्मत से यही गिला ज़िंदगी भर,
जिसको पल पल चाहा उसी को पल पल तरसे!!

उठा लो दुपट्टे को ज़मीन से कहीं दाग़ न लग जाए,
पर्दे में रखो चेहरे को कहीं आग न लग जाए!!

अपनी ईन नशीली निगाहों को जरा,
झुका दीजिए जनाब, मेरे मजहब में नशा हराम है!!

चूम लेती हैं लटक कर, कभी चेहरा कभी लब,
तुमने ज़ुल्फ़ों को बहुत सर पे चढ़ा रखा हैं!!

खुदखुशी करने से मुझे कोई परहेज नही है,
बस शर्त इतनी है कि फंदा तेरी जुल्फों का हो!!

जब यार ने उठा कर ज़ुल्फ़ों के बाल बाँधे,
तब मैं ने अपने दिल में लाखों ख़याल बाँधे!!

आँखों मे लगाकर काजल, जुल्फों मे बसाकर बादल,
ए मेरे सनम तुम कहा चले, हवा मे ल़हरा कर आँचल!!

रूठ कर तेरी जुल्फों से चाँद भी सहम गया,
दागदार तो था ही बादलों में भी छिप गया!!

कल रात ज़िंदगी से मुलाक़ात हो गयी,
लब थरथरा रहे थे मगर बात हो गयी!!

तेरे प्यार में डूब कर कतरे से दरिया हो जाऊ,
मैं तुमसे शुरू होकर तुझमें ख़त्म हो जाऊ!!

आज दिल कर रहा था, बच्चों की तरह रूठ ही जाऊ,
पर फिर सोचा, उम्र का तकाज़ा है, मनायेगा कौन!!

यूँ भी होता है की एक दम कोई अच्छा लग जाए,
बात कुछ भी ना हो और दिल में तमाशा लग जाए!!

ये मुहब्बत का बंधन भी कितना अजीब होता है,
मिल जायें तो बातें लंबी, बिछड़ जायें तो यादें लंबी!!

हमें ये दिल हारने की बीमारी ना होती,
अगर आपकी दिल जीतने की अदा इतनी प्यारी ना होती!!

तेरी जुदाई के शिकवे में किस से करूँ,
यहा हर कोई अब भी तुझे मेरा ही समझता है!!

कोई तीर होता तो, दाग़ देते तेरे दिल पर,
कम्भख्त मोहब्बत है, जताई भी नहीं जाती!!

नाराज़ ना होना कभी बस यही एक गुज़ारिश है
महकी हुई इन साँसों की साँसों से सिफ़ारिश है!!

तुम मोहब्बत के सौदे भी अजीब करते हो,
बस मुस्कुरा देते हो और अपना बना लेते हो!!

मुझे तेरा साथ जिंदगी भर नहीं चाहिये,
बल्कि जब तक तू साथ है तब तक जिंदगी चाहिये!!

2 line shayari : मेरी मोहब्बत की हद ना तय कर पाओगे तुम,

1. मेरी मोहब्बत की हद ना तय कर पाओगे तुम,
तुम्हें साँसों से भी ज्यादा मोहब्बत करते है हम !!

meri mohabbat ki had na tay kar paoge tum,
tumhe sanso se bhi jayda mahobbat karte hai ham….

(———————————–)

2 तुझे भी प्यार है मुझसे मैं जानता हूं सनम,
ये बात और है कि मुझसे कभी कहा तौ नहीं !!

tujhe bhi pyar mujhse main janta hu sanam,
ye bat our hai ki mujhse kabhi kaha ti nahi…..

(———————————)

3 याद आने की वजह बहुत अजीब है तुम्हारी,
तुम वो गैर थे जो पल भर में मैंने अपना मान लिया !!

yad aane ki wajh bahut ajib hai tumhari,
tum wo gher the jo pal bhar me maine apna bana liya…

(“anjali lalawat”)

2 line shayari : अच्छा लगता हैं तेरा नाम मेरे नाम के साथ,

1. अच्छा लगता हैं तेरा नाम मेरे नाम के साथ,
जैसे कोई खूबसूरत सुबह जुड़ी हो, किसी हसीन शाम के साथ!!

Acha lagta hai tera nam mere nam k sath,
jaise koi khubsuart subh judi ho, kisi hasin sham ke sath||

( – – – – – – – – – – – – – – – – )

2 सुनो ये बदल जब भी बरसता है..
मन तुझसे ही मिलने को तरसता है ||

suno ye badal jab bhi barsta hai ..
man tujshe hi milne ko tarsta hai ||

( – – – – – – – – – – – – – – – -)

3 प्यार एक झटके में हो जाता है पर उसे,
पूरा करने के लिए बहुत सारे झटके लगाने पड़ते है

pyaar ek jhatake mein ho jaata hai par use,
poora karane ke liye bahut saare jhatake lagaane padate hai….

2 line shayari : और कितना परखोगे तुम मुझे…

1. और कितना परखोगे तुम मुझे ❓❓
क्या इतना काफी नहीं कि मैंने तुम्हें चुना है ‼

Our kitna parkhoge tum mujhe ??
kya itna kafi nahi ki maine tumhe chuna hai||

2 💕💕💕रहने दे मुझे यूँ उलझा हुआ सा तुझमें,
सुना है सुलझ जाने से धागे अलग अलग हो जाते हैं.💕💕💕

rahne de mujhe u uljha hua sa tujhme,
suna hai suljh jane se dhage alag -alag ho jate hai,,,

3 मेरा दिल आपकी तरफ कुछ यूँ झुक सा जाता है …
किसी बेईमान बनिए का तराजू हो जैसे..

mera dil aapke taraf kuch yoon jhuk sa jaata hai …
kisi baiman baniye ka tarajoo ho jaise..