Mother’s day shayari :मैंने ” माँ ” के कंधे पर सर रख कर पूछा ,

1 मैंने ” माँ ” के कंधे पर सर रख कर पूछा , “माँ ” कब तक मुझे अपने कन्धों पर सोने दोगी! माँ का जवाब था बेटा जब तक तू, मुझे अपने
कंधे पर ना उठा ले तब तक……

—————————–
2 जो कुछ भी मिला है मुझे तेरी दुआओं का असर है ,
मैं जो कुछ हूँ आज तेरी बस तेरी दुआओं का असर है ,
जो आज मैं खुश हूँ तो मेरा नहीं कमाल ,
मेरी जो खुशियाँ हैं वो सब तेरी दुआओं का असर है। Happy Mothers Day Mom !! Love You Mom !!

– – – – – — – – – – – – – – –

3 माँ की एक दुआ ज़िन्दगी बना देती है ,
खुद रोएगी पर तुम्हें हसा देगी ,
कभी भूल कर भी माँ को ना रुलाना ,
एक छोटी सी बूँद पूरी धरती हिला देगी।

– – – – – – – – – – – – – –
4 सीधा साधा भोला भाला मै ही सबसे अच्छा हूँ ,कितना भी हो जाऊ बड़ा माँ मै आज भी तेरा बच्चा हूँ ।

— – – – – – – – – – – – – –

5 कभी आपके माँ-बाप आपको डाँट दे तो बुरा न मानना…. बल्कि सोचना की गलती होने पर वे नहीं डाँटेगे तो और कौन डाँटेगा।

– – – — – – – – – – — –
6 जन्नत‬ का हर ‪लम्हा‬ दीदार‬ किया था, ‎माँ‬ तूने ‪गोद‬ मे उठा कर जब ‪प्यार‬ किया था !

————————————

7 ये जन्नत का दरवाज़ा है, माँ के पैरो से खुलता है !! love u mumma