Rose Day Wishes : सारी उम्र में एक पल भी आराम का न था..!

सारी उम्र में एक पल भी आराम का न था..! 
वो जो दिल मिला किसी काम का न था..!! 
कलियाँ खिल रही थी हर गुलाब था ताज़ा..! 
मगर कोई भी गुलाब मेरे नाम का न था…!!
Happy Rose Day

Sari Umar Mein Ek Pal Bhi Aram Ka Na Tha..
Wo Jo Dil Mila Kisi Kam Ka Na Tha..
Kaliya Khil Rai Thi Har Gulab Tha Taza…
Magar Koi Bhi Phool Mere Naam Ka Na Tha…

This Post Has One Comment

Leave a Reply