Miss u shayari : इज़ाज़त हो तो लिफाफे में रखकर,

Miss u shayari : इज़ाज़त हो तो लिफाफे में रखकर,

Miss u shayari in Hindi

इज़ाज़त हो तो लिफाफे में रखकर,*
*कुछ वक़्त भेज दूं*
*सुना है कुछ लोगों को फुर्सत नहीं है*
*अपनों को याद करने की*
i miss u swthrt

ijajat ho to lifafe me rakhkar,
kuch waqt bhej du
suna hai kuch logo ko fursat nahi milti
apno ko yad karne ki
i miss u swthrt

Leave a Reply