Love Shayari : पागलपन की हद से ना गुजरे तो,

Love Shayari : पागलपन की हद से ना गुजरे तो,

love Shayari in hindi

पागलपन की हद से ना गुजरे तो,
वह प्यार कैसा
होश में तो रिश्ते निभाए जाते है|

pagalpan ki had se na gujare to,
wah pyaar kaisa,
hos me to ristw nibhaye jate hai

 

Must Read : क्या पता था की मोहब्बत हो जाएगी, हमें तो बस तेरा मुस्कुराना अच्छा लगता 

 

Leave a Reply