Love Shayari : ज़िक्र करता है दिल सुबह शाम तेरा, .

Love Shayari : ज़िक्र करता है दिल सुबह शाम तेरा, .

ज़िक्र करता है दिल सुबह शाम तेरा, 
गिरते हैं आँसू बनता है नाम तेरा, 
किसी और को क्यों देखे ये आँखें, 
जब दिल पे लिखा सिर्फ नाम तेरा।

jikar karta hai dil subah sham tera…
girte hai aasu banta hai naam tera…
kisi aur ko kyo dekhe ye aankhe…
jab dil pe likha naam tera…

Leave a Reply