Anmol VAcha : जब जलेबी की तरह उलझ ही रही है तू…

Anmol VAcha : जब जलेबी की तरह उलझ ही रही है तू…

  Anmol Vachan In hindi

जब जलेबी की तरह |
उलझ ही रही है तू ||
ऐ जिंदगी, |
तो फिर क्यों  न तुझे ||
चाशनी में डुबा कर |
मजा ले ही लिया जाए ||
jab jalebi ki trah,,,
ulaj hi rahi hai tu,,,
     a jindgi,,,
to phir kyu na tujhe,
chasni me dub kar…
maja le liya jaye..

Leave a Reply